... ...
... ...

चार धाम यात्रा : मुख्य पड़ाव में नहीं है शौचालय की व्यवस्था !

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
रुद्रप्रयाग। चारधाम यात्रा के मुख्य पड़ाव मयाली बाजार में यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मयाली में सबसे बड़ी समस्या शौचालय की है। इसके अलावा मयाली में साफ-सफाई की भी कोई उचित व्यवस्था नहीं है। जिस कारण स्थानीय जनता के साथ ही यात्रा पर पहुंचने वाले यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
विकासखण्ड जखोली का मयाली बाजार जहां दर्जनों गांवों का बाजार है। वहीं चार धाम यात्रा का भी मुख्य पड़ाव है। गंगोत्री और यमुनोत्री के दर्शन करने के बाद तीर्थ यात्री घनसाली होते हुये मयाली बाजार पहुंचते हैं, लेकिन मयाली बाजार में यात्रियों के साथ ही स्थानीय जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
मयाली बाजार में सबसे बड़ी समस्या शौचालय की है। शौचालय न होने के कारण यात्रियों के साथ ही स्थानीय जनता को भारी समस्याएं झेलनी पड़ती हैं। पूर्व में मयाली बाजार में जिला पंचायत का शौचालय था, लेकिन वह आपदा में ध्वस्त हो गया था, लेकिन दोबारा यहां पर शौचालय का निर्माण नहीं हो पाया है। मयाली बाजार के आगे एक शौचालय का निर्माण हुआ भी है, लेकिन गंदगी की भेंट चढ़ गया है।
शौचालय के अलावा मयाली बाजार में पेयजल और साफ-सफाई के भी उचित इंतजाम नहीं हैं। बाजार किनारे जगह-जगह कूड़े के ढ़ेर लगे रहते हैं। बाजार का सारा कूड़ा एकत्रित करके तिलवाड़ा मोटरमार्ग पर डाला जाता है। कई बार तो सड़क किनारे ही लोग खुले में शौच भी कर देते हैं। साथ ही मयाली बाजार में पेयजल की भी गंभीर समस्या है। बाजार के व्यापारियों को हैंडपंप के पानी पर निर्भर रहना पड़ता है। गर्मियों में तो हैंडपंप भी बंद पड़ जाता है, जिससे दिक्कतें बढ़ जाती हैं।
स्थानीय व्यापारी सतीश उनियाल, वीरेन्द्र सिंह नेगी आदि का कहना है कि मयाली बाजार में शौचालय की नितांत आवश्यकता है। इन दिनों चार धाम यात्रा चल रही है। प्रत्येक दिन हजारों यात्री यहां पहुंच रहे हैं, लेकिन शौचालय न होने के कारण यात्रियों के साथ ही स्थानीय जनता एवं व्यापारियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
Loading...